Place ad here
नगर निगम क्षेत्र को पालीथीन मुक्त बनाकर पॉलीथीन और थर्माकोल के उत्पादों को पूरी तरह प्रतिबंधित करने समेत विकास से जुड़े 50 से अधिक प्रस्तावों सर्वसम्मति से पारित किये गये

नगर निगम क्षेत्र को पालीथीन मुक्त बनाकर पॉलीथीन और थर्माकोल के उत्पादों को पूरी तरह प्रतिबंधित करने समेत विकास से जुड़े 50 से अधिक प्रस्तावों सर्वसम्मति से पारित किये गये .

रूद्रपुर। नगर निगम बोर्ड की बैठक में सिंचाई विभाग के पास पीपीपी मोड पर वैडिंग जोन बनाने, नगर निगम क्षेत्र को पालीथीन मुक्त बनाकर पॉलीथीन और थर्माकोल के उत्पादों को पूरी तरह प्रतिबंधित करने समेत विकास से जुड़े 50 से अधिक प्रस्तावों सर्वसम्मति से पारित किये गये। नगर निगम सभागार में मेयर रामपाल सिंह की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में आज रूद्रपुर के नवनिर्वाचित विधायक शिव अरोरा ने भी शिरकत की। पहली बार बैठक में पहुंचने पर उनका स्वागत किया गया। विधायक अरोरा ने बैठक में रूद्रपुर के विकास को लेकर अहम सुझाव दिये। बैठक से पूर्व मेयर रामपाल सिंह ने उड़ान कैफे का फीता काटकर शुभारम्भ भी किया।
 बैठक की शुरूआत में स्वच्छता को लेकर वीडियो प्रजेंटेशन दिखाया गया। बैठक में पिछली बैठक में हुए निर्णयों पर कार्यवाही की पुष्टि के बाद वित्तीय वर्ष 2021-22 में हुए आय व्यय एवं अनुपूरक पर विचार विमर्श एवं वर्ष 2022-23 के बजट पर चर्चा की गयी। बैठक में 31 अक्टूबर तक गृहकर भुगतान करने पर पांच प्रतिशत की छूट देने का ऐलान किया गया। इसके साथ ही शहर में जाम की समस्या को देखते हुए सिचाई विभाग के पास स्थित भूमि पर पीपीपी मोड पर वैंडिंग जोन बनाये जाने पर सहमति हुई। 

इसके साथ ही रम्पुरा स्थित कबीर द्वार का सौंदर्यीकरण, नगर निगम क्षेत्र में स्थित मोबाइल टावरों पर पंजीकरण लाइसेंस नवीनीकरण शुल्क लगाने,मुख्यमंत्री घोषणा अंतर्गत लंबित कार्यों हेतु धनराशि की मांग , नगर निगम रूद्रपुर क्षेत्र अंतर्गत सार्वजनिक शौचालय पर होर्डिंग एवं विज्ञापन के माध्यम से उसके द्वारा प्राप्त शुल्क से शौचालयों का रखरखाव, नगर निगम रूद्रपुर क्षेत्र को प्लास्टिक फ्री बनाए जाने ,बाजार क्षेत्र को अतिक्रमण मुक्त करने,निगम रुद्रपुर क्षेत्र अंतर्गत 20 स्थानों पर सम्मानित पार्षदों की राय से महापुरुषों की मूर्ति लगाने,नगर निगम क्षेत्र में शामिल हुए नए गांव को स्वामित्व योजना का लाभ दिलाने हेतु शासन से पत्राचार,नगर निगम रूद्रपुर क्षेत्र अंतर्गत निर्मित एबीसी सेंटर हेतु आवश्यक उपकरण एवं सामग्री टेंडर के माध्यम से खरीदने, सड़कों का महापुरुषों के नाम पर नामकरण,अमृत योजना के अंतर्गत पानी का कनेक्शन लेने हेतु निर्धन लोगों का शुल्क नगर निगम रुद्रपुर की ओर से दिए जाने,नगर निगम रुद्रपुर स्थित पार्कों का सौंदर्यीकरण, श्मशान घाट के सौंदर्यीकरण की वित्तीय स्वीकृति,पर्यावरण मित्रों को दिए जाने वाले झाड़ू भत्ते को 90 से बढ़ाकर 200 प्रतिमाह करने,नगर निगम क्षेत्र स्थित नवीन आधुनिक स्लाटर हाउस बनाए जाने की वित्तीय स्वीकृति ,सफाई कर्मचारियों के बच्चों द्वारा 80प्रतिशत से अधिक अंक हासिल करने पर उनकी फीस नगर निगम देगा, वर्षा काल से पूर्व नगर निगम रूद्रपुर क्षेत्र अंतर्गत समस्त बड़े नालों की सफाई, नगर निगम रूद्रपुर क्षेत्र अंतर्गत साफ सफाई हेतु सामग्री का क्रय, आचार संहिता के चलते ट्रेड लाइसेंस हेतु नवीन टेंडर ना किए जाने की दशा में 4 माह के लिए टेंडर को बढ़ाए जाने,  नगर निगम रूद्रपुर क्षेत्र अंतर्गत डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन एवं  नगरीय ठोस अपशिष्ट के निस्तारण हेतु शासन से प्राप्त धनराशि समाप्त होने पर अतिरिक्त धनराशि नगर निगम बोर्ड फंड से व्यय करने के  प्रस्ताव पारित किये गये। इसके अतिरिक्त नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत 4 जोनल ऑफिस की बिल्डिंग/भवन का निर्माण कार्य, सहायक नगर आयुत्त को फील्ड निरीक्षण, सरकारी भूमि पर हो रहे अतिक्रमण को रोकने एवं देख-रेख के लिये राजकीय कार्यों हेतु वाहन एवं वाकी-टाकी/वायरलेस उपलब्ध कराये जाने की स्वीकृति पर विचार किया गया। साथ ही कर अधीक्षक को फील्ड निरीक्षण वसूली एवं आवासीय भवनो / व्यवसायिक भवनों पर कर आरोपित किये जाने हेतु वाहन एवं वाकी-टाकी / वायरलेस उपलब्ध कराये जाने की स्वीकृति, सफाई निरीक्षक को भी फील्ड निरीक्षण हेतु वाहन एवं वाकी-टाकी/वायरलेस उपलब्ध कराये जाने की स्वीकृति एवं सफाई नायकों को प्रत्येक माह  400रूपये फील्ड निरीक्षण भत्ता दिये जाने की स्वीकृति पर विचार किया गया। 

इसके अलावा जिन प्रस्तावों पर चर्चा हुई उनमें  नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत सफाई मित्र सेवा केन्द्र बनाये जाने, ठोस अपशिष्ट प्रबन्धन अधिनियम 2022 की उपविधि को लागू करने ,विडियो कॉफ्रेन्स हेतु कॉफ्रेन्स रूम का निर्माण, डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन एवं प्रोसेसिंग की निगरानी के लिये कंट्रोल सेंटर बनाये जाने,कुल 4 जोनों में कुड़े का ट्रांसफर स्टेशन बनाने, नगर निगम में गृहकर जमा करने की अंतिम तिथि निर्धारित किये जाने की स्वीकृति ,मुर्गा मछली मीट विक्रय शुल्क की वसूली के अनुबन्ध में समयावृद्धि ,नगर निगम की दुकानों का किराया नामान्तरण किये जाने हेतु उपविधि बनाये जाने ,नियमावली 2015 के अन्तर्गत दिये गये विज्ञापन एवं इसके इतर अन्य विज्ञापनों पर शुल्क निर्धारित किये जाने, नगर निगम रुद्रपुर में कार्यरत कार्मिकों का आवास भत्ता शासनादेश  निर्गत होने की तिथि से पुनरीक्षित किये जाने, नगर निगम रुद्रपुर में आउटसोर्स के माध्यम से मानवशत्तिफ की आपूर्ति हेतु मै. जे.के. इन्टरप्राईजेज के अनुबंध की अवधि को ई-निविदा की प्रक्रिया सम्पन्न हो जाने तक बढ़ाये जाने, आमजन को साफ-सफाई, गीला एवं सूखा कूड़ा पृथकीकरण, स्वच्छ सर्वेक्षण इत्यादि के लिये, जागरूक करने हेतु हर जोन में एक एन.जी.ओ. को अनुबंधित किये जाने, पहाड़गंज स्थित पुराने ट्रंचिंग ग्राउन्ड का सौन्दर्यीकरण ,नगर निगम, रुद्रपुर क्षेत्रान्तर्गत मुख्य स्थानों पर रिसाईकिल्ड वस्तुओं से कलाकृति/ आदर्श वाक्य लिखवाये जाने हेतु वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति , डोर टू डोर कूड़ा एकत्रीकरण एवं परिवहन हेतु मै0 आकांक्षा ईन्टरप्राईजेज के अनुबंध की अवधि को 4 माह के लिये बढ़ाने, रूद्रपुर क्षेत्रान्तर्गत छूटे हुए परिवारों को गीले एवं सूखे कूड़े के पृथक-पृथक संग्रहण हेतु डस्टबिन उपलब्ध कराने के लिये डस्टबिन क्रय किये जाने, नगर निगम के प्रत्येक वर्क एजेन्टों को क्षेत्र भ्रमण के लिये प्रतिमाह 10 लीटर पेट्रोल देने, पथ प्रकाश व्यवस्था हेतु विद्युत उपकरण खरीदने, गोविन्द बल्लभ पंत, कृषि विश्वविद्यालय, पन्तनगर तथा जल संस्थान के साथ मिलकर संयुत्तफ रूप नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत समस्त वार्डाे में भू-गर्भ जल / सतहीय जल की गुणवत्ता का परीक्षण एक वर्ष में दो बार किये जाने,नगर निगम के समस्त 40 वार्यों में कूडे की मात्रा का आकलन करने तथा कूडा निस्तारण के संदर्भ में विस्तृत प्लान बनाने के लिये एक एजेन्सी को अनुबंधित करने ,नगर पालिका दिवस एवं नगर निगम स्थापना दिवस धूमधाम जाने एवं स्वच्छता के कार्य में लगे कार्मिकों को सफाई के सिपाही का दर्जा देना एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाले सफाई के सिपाही को सम्मानित करने ,रुद्रपुर क्षेत्रान्तर्गत निर्मित कम्पोस्ट पिटों तथा नगर निगम रूद्रपुर परिसर में स्थापित तीन नग फम्पोस्टिंग मशीनों तथा एक नग प्लास्टिक कोम्पेक्टर को निशुल्क / शुल्क परिस्थिति अनुसार आउटसोंस के माध्यम से किराये पर दिये जाने ,नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत पालिथिन कैरी बैग/थर्माकोल के फैटलरी को प्रतिबंधित किये जाने,नगर निगम क्षेत्रान्तर्गत जोन कार्यालय हेतु भूमि का चयन करना, नगर निगम सैप्टेज मैनेजमेंट रेगुलेशन 2019 के नियम संख्या 125 यूजर चार्जेज डिस्ट्रीब्यूशन के तहत नगर निगम रूदपुर में पंजीकृत प्राईवेट सैप्टेज टैंकर स्थानियों से नगर निगम रूदपुर द्वारा लिया जाने वाला शुल्क दिनांक 28.01.2022 से आगामी 8 माह तक के लिये माफ करने, कल्याणी नदी पर खर्च की वित्तीय स्वीकृति पर विचार,रूद्रपुर सैप्टेज ट्रीटमेंट प्लान्ट के निर्माण के लिये किच्छा बाईपास मार्ग पर बीएचईएल के बराबर स्थित रित्तफ भूमि में से 90 मी0 गुणा 50 मी0 भूमि प्लान्ट निर्माण के लिये तथा 50 मी0 गुणा 05 मी. भूमि पहुँच मार्ग के लिये आवंटित करने से सम्बंधित प्रस्ताव भी पारित किये गये। 

मेयर रामपाल ने बोर्ड की बैठक में पहुंचे सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि रूद्रपुर को साफ और सुंदर बनाने के लिए सभी सदस्यों के साथ साथ आम जनता का भी सहयोग जरूरी है। सभी लोग अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन ईमानदारी से करेंगे तभी हम शहर को एक सुंदर और स्वच्छ बनाने में सफल होंगे। उन्होंने कहा कि पार्षद जनता और निगम के बीच एक ऐसी कड़ी है जो हर व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने और जनसमस्याओं के निराकरण का मार्ग प्रशस्त करते हैं। बैठक में मुख्य नगर आयुक्त विशाल मिश्रा, विधायक शिव अरोरा, वरिष्ठ वित्त अधिकारी जुगल किशोर सक्सेना, सहायक नगर आयुक्त राजदेव जायसी, राजू नवियाल, कर अधीक्षक लता आर्या, प्रभारी अधिशासी अधिकारी गजेंद्र पाल पार्षद आयुष तनेजा, प्रमोद शर्मा, मोहन खेड़ा, सुशील मंडल, सुरेश गौरी, सुनील बाबा, जितेंद्र कुमार, राजेश कुमार,रीना जग्गा, कैलाश राठौर,किरन राठौर, अमित मिश्रा, मोहन कुमार, रमेश कालड़ा, बबलू सागर,अंबर सिंह, नितेश शर्मा, दिव्या अनेजा, सुशील चौहान, रजनी रावत, सीमा गुप्ता,इलमा समरीन, शिव कुमार के अलावा नामित धीरेश गुप्ता, शालिनी बोरा, सुनील यादव आदि मौजूद रहे।


 गृहकर जमा कराने वालों को राहत
रूद्रपुर। समय पर गृहकर जमा करने वालों को नगर निगम राहत देने जा रहा है। नगर निगम बोर्ड की बैठक में समय  पर गृहकर जमा करने वालों को पांच प्रतिशित की छूट देने का निर्णय लिया गया। बोर्ड की बैठक में लाये गये प्रस्ताव के पारित होने के बाद अब 31 अक्टूबर तक गृहकर जमा करने वालों को 5 प्रतिशत की छूट दी जायेगी। इसके बाद गृहकर जमा करने वालों को छूट का लाभ नहीं मिलेगा। मुख्य नगर आयुक्त विशाल मिश्रा ने नगर निगम के समस्त करों का भुगतान सम्बंधित लोगों से समय पर करने का आहवान किया। उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा लिये जाने वाले कर शहर के विकास पर ही खर्च किये जाते हैं। समय पर टैक्स मिलने से नगर निगम को विकास कार्यों को आगे बढ़ाने में मदद मिलती है।

1213

LEAVE A COMMENT

Comment