Place ad here
डॉ. दयाल शरण संयुक्त निर्देशक क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट ( फॉरेंसिक ) एवं रेनू शरण ने मां सरस्वती के सामने दीप प्रज्वलित करके JIE इंटरनेशनल स्कूल में कार्यक्रम का शुभारंभ किया

डॉ. दयाल शरण संयुक्त निर्देशक क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट ( फॉरेंसिक ) एवं रेनू शरण ने मां सरस्वती के सामने दीप प्रज्वलित करके JIE इंटरनेशनल स्कूल में कार्यक्रम का शुभारंभ किया .

जे.आई.ई इंटरनेशनल स्कूल  रुद्रपुर में "आरंभ 2022" विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया । जिसमें
मुख्य अथिति डॉ. दयाल शरण संयुक्त निर्देशक क्राइम इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट ( फॉरेंसिक ) एवं रेनू शरण ने मां सरस्वती के सामने दीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर छोटे-छोटे बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जे.आई.ई. इंटरनेशनल स्कूल रुद्रपुर के 15 से ज्यादा बच्चों ने विश्व रिकॉर्ड बनाए हैं। जब इन बच्चों ने स्टेज पर आकर लाइव  प्रस्तुति दी तो पूरा परिसर तालियों से गूंज उठा। स्कूल निदेशक सुनीता सिंह एवं कोऑर्डिनेटर विद्या कौशिक एकता सिंह ने अभिभावकों का अभिनंदन किया एवं कार्यक्रम में नौनिहालों की प्रतिभा की सराहना कर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की गई। 

मुख्य अतिथि डॉ. दयाल शरण ने कहा कि बच्चे भगवान की मूर्ति होते हैं।  दृढ़ निश्चय से कठिन से कठिन कार्य में भी सफलता प्राप्त की जा सकती है। जेआईई इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों की बच्चों में वास्तव में विलक्षण प्रतिभा है जिसके द्वारा उन्होंने इतने विश्व रिकॉर्ड बनाए हैं। बच्चों को इस मुकाम पर पहुंचाने का पूरा श्रेय स्कूल प्रबंधन एवं शिक्षकों को जाता है। अतिथि डॉ. रेनू शरण ने कहा कि अच्छी प्रेरणा से बच्चों में नैतिक शिक्षा, सात्विक विचार और धार्मिक आस्था के प्रति प्रबल भावना का विकास होता है एवं अच्छे संस्कार प्राप्त कर समाज को नई दिशा देने में विद्यार्थी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उनको यह देखकर अति प्रसन्नता हो रही है की जे.आई.ई इंटरनेशनल स्कूल रुद्रपुर बच्चों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा देने के साथ-साथ नैतिक शिक्षा प्रदान कर उनका सर्वागीण विकास कर रहा है। 
विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले बच्चों को मुख्य अतिथि डॉ. दयाल शरण एवं डॉ रेनू शरण ने ₹5000 की प्रोत्साहन राशि पुरस्कार स्वरूप दी प्रदान की।

इस अवसर पर समस्त शिक्षक शिक्षिकाओं के साथ अभिभावक गण एवं क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

1213

LEAVE A COMMENT

Comment