Place ad here
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मनोज सरकार स्पोर्ट्स स्टेडियम पहुॅचकर 23वे राष्ट्रीय बॉलीबाल यूथ चैम्पियनशिप का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को मनोज सरकार स्पोर्ट्स स्टेडियम पहुॅचकर 23वे राष्ट्रीय बॉलीबाल यूथ चैम्पियनशिप का शुभारंभ किया। .

रूद्रपुर 11 अप्रैल, 2022- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने पूर्व निर्धारित कार्य्रमानुसार सोमवार को मनोज सरकार स्पोर्ट्स स्टेडियम पहुॅचकर 23वे राष्ट्रीय बॉलीबाल यूथ (महिला व पुरूष) चैम्पियनशिप का शुभारंभ दीप जलाकर किया। 

चैम्पियनशिप के शुभारंभ पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बताया कि पुरूष वर्ग में 27 राज्यों की 1 एक साई की टीम कुल 28 टीमों व महिला वर्ग में 23 टों जिसमें 22 राज्यों की व 1 साई की टीम शामिल है। उन्होंने पहली बार प्रतियोगिता में लद्दाख की टीम के शामिल होने पर बधाई देने के साथ ही प्रतियोगिता में प्रतिभाग कर रही सभी टीमों को बधाई दी। उन्होंने प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि किसी शायर की पंक्ति है कि धूप में निकलों-घटाओं में नहाकर देखो, ज़िन्दगी क्या है, किताबों को हटाकर देखो। उन्होंने कहा कि गर्मी में भी युवाओं में खेल के प्रति उत्साह व उमंग की लहरें बता रहीं है कि देश का नौजवान आसमॉन छूने को तैयार है। न केबल खेलों की राष्ट्रीय प्रतियोगिता है बल्कि यह देश की युवा शक्ति का भी मंच है। हमारे युवा खेल प्रतियोगिताओं में प्रतिभा का रंग बखेरते हुए देश एवं राज्य का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आम घर के बच्चें को भी खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए खेल खेलने में परेशानी न पड़े, कोई भी लाचारी या बेबसी प्रतिभा के रास्ते में अडंगा न डाले इसके लिए सरकार ने खेल नीति में व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रतिभावान खिलाड़ी की प्रतिभा में किसी भी प्रकार की रूकावट न हो, हमारा यही निश्चय है। राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में पदक विजेता खिलाड़ियों को सरकारी नोकरी व खेल का माहौल उपलब्ध कराया जाये। 

उन्होंने कहा कि खेल में उत्कृष्ट प्रदर्शन एवं पदक प्राप्त करने पर खिलाड़ियों पर धन की वर्षा होती है।  परन्तु प्रतियोगिताओं में भाग लेने एवं अभ्यास के समय आवश्यकता पर प्रतिभाओं को मदद नहीं मिल पाती और कई प्रकार की समस्याओं से जूझना पड़ता है, इसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने खेल नीति-2021 को लागू किया है जिसमें खिलाड़ियों के खेलने की व्यवस्था, रहने व खाने की व्यवस्था और अच्छा प्रदर्शन करने के बाद नोकरी की भी व्यवस्था नई खेल नीति में की है। छोटी उम्र के उभरते हुए खिलाड़ियों के लिए भी सरकार की ओर से मुख्यमंत्री उदयमान खिलाड़ी उन्नयन योजना के तहत 8 से 14 वर्ष तक के उभरते खिलाड़ियों के लिए भी शारीरिक टेस्ट व क्षमता के आधार पर हर महीने 1500 रूपये प्रोत्साहन राशि देने की भी घोषणा की है। ओलम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक विजेता, रजत एवं कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी हैं, उनको समूह ख के 5400 ग्रेड पे पर नियुक्ति दी जायेगी। ओलम्पिक, एसियाई खेलों विश्व चेम्पियनशिप, राष्ट्र मण्डल खेलों के खिलाड़ियों को 4600 व 4800 ग्रेड पे के पदों पर सीधी भरती की जायेगी। खिलाड़ियों के लिए हर सम्भव मदद करेंगे। 

उन्होंने कहा कि उभरती हुई खेल प्रतिभाओं के भीषण गर्मी में भी उत्साह व उमंग को देखकर कहा कि में भविष्य के प्रति आश्वस्त हूॅ कि भविष्य में हमारा देश खेल के क्षेत्र में और अधिक सशक्त बनाने का काम आपके माध्यम से होगा। उन्होंने कहा कि यह आयोजन निश्चित रूप से आने वाले समय में मील का पत्थर साबित होगा। इसके साथ ही उन्होंने खेल के विधिवत उद्घाटन की घोषणा की। उन्होंने खेल हेतु ध्वज भी आरोहित किया।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय छतरपुर के विद्यार्थियों ’’अल्मोड़ा अंग्रेजा’’ गीत पर मनमोहक नृत्य करने पर मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को 5000 रूपये का पुरस्कार दिया। इसके साथ ही विभिन्न विद्यालयों की बालिकाओं द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया।

इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक शिव अरोरा ने स्टेडियम व खेल के महत्व के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में मेयर रामपाल सिंह, विधायक त्रिलोक सिंह चीमा, पूर्व विधायक राजेश शुक्ला, हर भजन सिंह चीमा, के अलावा डीके सिंह, लक्ष्मण भाकुनी, मुकेश कुमार, गुंजन, सुरेश परिहार, अनिल कुमार, विजय, एके दास सहित मण्डलायुक्त दीपक रावत, डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे, जिलाधिकारी युगल किशोर पन्त, एसएसपी मंजूनाथ टीसी, मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगाई, अपर जिलाधिकारी ललित नारायण मिश्र, उप जिलाधिकारी प्रत्यूष सिंह, ओसी कलेक्ट्रेट मनीष बिष्ट, तहसीलदार नीतू डागर आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन हेमन्त बिष्ट ने किया।

1213

LEAVE A COMMENT

Comment