Place ad here
किच्छा में अवैध खनन में मुख्यमंत्री के लिप्त होने का झूठा आरोप व धरना चंपावत उपचुनाव में मुख्यमंत्री को कलंकित करने का कुत्सित प्रयास है:- शुक्ला

किच्छा में अवैध खनन में मुख्यमंत्री के लिप्त होने का झूठा आरोप व धरना चंपावत उपचुनाव में मुख्यमंत्री को कलंकित करने का कुत्सित प्रयास है:- शुक्ला .


किच्छा के पूर्व विधायक एवं वरिष्ठ भाजपा नेता राजेश शुक्ला ने गत दिनों किच्छा विधायक तिलकराज बेहड़ द्वारा किच्छा तहसील परिसर में दिए गए बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि झूठ व प्रपंच रचना इनका आदत है, किच्छा विधानसभा चुनाव के पूर्व किच्छा के बस अड्डे पर मेरे द्वारा कब्जा किए जाने की बात कहकर कांग्रेसियों ने एक धरना देकर जनता को गुमराह करने का प्रयास किया था, वास्तविकता पूरे शहर को पता है!
 उपचुनाव के पूर्व जो लोग मुख्यमंत्री जी को संदेश भेजकर किच्छा सीट खाली करने व अपने पुत्र को लाल बत्ती दिलाने का सौदा करा रहे थे वे ही लोग मुख्यमंत्री द्वारा उस प्रस्ताव को स्वीकार न करने पर अब मुख्यमंत्री पर किच्छा में अवैध खनन कराने का मनगढ़ंत झूठा आरोप लगा रहे हैं!
राजेश शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस शासन में अवैध खनन करने वाले पुलिस क्षेत्राधिकारी पर गोली चलाने तक का काम करते थे तथा कांग्रेस शासन में अवैध खनन में लिप्त लोगों द्वारा तमाम हत्याएं कांग्रेस शासन में हुई हैं जिनमें हत्यारों पर कांग्रेसियों का संरक्षण था आज भाजपा शासन में अगर भाजपा के जनप्रतिनिधियों का संरक्षण अवैध खनन करने वालों पर रहता तो शांतिपुरी में भाजपा के मंडल महामंत्री की हत्या नहीं होती, पूरे क्षेत्र को मालूम है कि हत्यारे किसके संरक्षण में अवैध खनन कर रहे थे और किसके संरक्षण में उन्होंने भाजपा नेता की हत्या की!
 पूर्व विधायक राजेश शुक्ला ने कहा कि विपक्ष के विधायक के रुप में सन 2012 से 2017 तक तत्कालीन मुख्यमंत्रियों से मिलकर उन्होंने (राजेश शुक्ला ने) किच्छा व रुद्रपुर क्षेत्र की तमाम समस्याओं व विकास के लिए योजनाएं स्वीकृत कराई! और आज विपक्ष का विधायक बनते ही तिलकराज बेहड़ विकास योजनाओं पर चर्चा करने की बजाय रोज आरोप-प्रत्यारोप झूठे धरने एवं अन्य नौटंकीया कर जनता का ध्यान विकास से हटाकर अपने झूठे वादों को पूरा न कर पाने के भविष्य के खतरे से बचने के लिए निरर्थक मुद्दों पर राजनीति कर रहे हैं !
उन्होंने कहा कि पहले विधायक बनते ही अपने चहेतों को अवैध खनन कराने के लिए अधिकारियों पर दबाव बनाया जब अधिकारियों ने इनका दबाव नहीं माना तो धरने देकर अधिकारियों को दबाव में लेना चाहते हैं ताकि अधिकारी डरकर उनके अवैध खनन करने वाले तत्वों के सामने घुटने टेक दें ! 
शुक्ला ने कहा कि ईमानदारी से काम करने वाले अधिकारियों के साथ सरकार भी खड़ी रहेगी और जनता भी साथ देगी अगर बेहड़ के पास तथ्य हो तो वे नाम लेकर बताएं कि कहां और कौन और कब अवैध खनन कर रहा है!

1213

LEAVE A COMMENT

Comment