Place ad here
बैंक मैनेजर पर गोली चलाने के 03 आरोपियों को बाजपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

बैंक मैनेजर पर गोली चलाने के 03 आरोपियों को बाजपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार .


दिनाँक 10.05.22 को समय लगभग 1800 बजे कोतवाली बाजपुर पुलिस को सूचना मिली कि कुछ देर पहले दि नैनीताल बैंक लि० शाखा बरहैनी बाजपुर के बैक मैनेजर श्री विवके यादव जो अपनी गाड़ी से बाजपुर आ रहे थे को किसी अज्ञात द्वारा नमूना बरहैनी के पास गाड़ी के पीछे से गोली मारी गयी है जिसमें विवके यादव गंम्भीर रुप से घायल हो गये है इस सूचना पर पुलिस द्वारा तत्काल घटना के सम्बन्ध में गहनता से छानबीन प्रारम्भ की गयी। मौके पर उच्चाधिकारीगणो द्वारा तत्काल पहुचकर घटना के सम्बन्ध में जानकारी की गयी तथा श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उ०सि० नगर महोदय के निर्देशन में श्रीमान पुलिस अधीक्षक काशीपुर व श्रीमान पुलिस क्षेत्राधिकारी बाजपुर के निकट पर्यवेक्षण में घटना के शीघ्र अनावरण हेतु 04 पुलिस टीमों का गठन किया गया। दिनांक  11. 05.22 को महेशपाल यादव द्वारा घटना के सम्बन्ध में तहरीर देकर मु०एफआईआर सं०-211 / 22 धारा 307 आईपीसी बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। इस दौरान घटना के अनावरण हेतु पुलिस टीमो द्वारा क्षेत्रार्न्तगत घटनास्थल के आसपास लगे लगभग 130 सीसीटीवी कैमरो का अवलोकन किया गया। सीसीटीवी के अवलोकन से घटना में मोटर साईकिल पर सवार दो व्यक्तियों की संलिप्तता होना प्रकाश में आया। जो कि घटना के बाद पुनः वापस नमूना व नमूना से पहाड़पुर की ओर जाते दिखाई दिये। इस बीच सुरागरसी पतारसी जारी रखते हुये क्षेत्र में मुखबीर मामूर किये गये।

गिरफतारी अभिoगण– दिनांक 19.06.22 को पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि जिन्होने बैक मेनेजर को गोली मारी थी वो आज उसी मो0सा0 पर सवार होकर बैक मेनेजर विवके जो अस्पताल से वापस बाजपुर आ गया है को पुनः डराने या जानलेवा हमला करने हेतु जाने वाले । मुखबिर की सूचना पर भेसिया तिराहे के पास से एक मोटर साईकिल पर सवार दो व्यक्तियों को पकड़ा। एक ने अपना नाम गुरपाल उर्फ रिंकू पुत्र तरसेम सिंह नि० यादव होटल के पीछे बाजपुर व दूसरे ने अपना नाम चरणजीत सिंह उर्फ दीपू पुत्र बलविन्दर सिंह नि० पहाड़पुर बाजपुर बताया। जामा तलाशी पर दीपू के कब्जे से 01 अदद पिस्टल नाजायज मय 02 अदद कारतूस जिन्दा बरामद हुआ।
घटना विवरण- गिरफतारशुदा अभि० दीपू ने बताया कि मैं पिछले कई वर्षो से बरहैनी में नीलम आंटी के घर पर काम करता हू। नीलम आंटी के साथ उनका कोई अपना पारिवारिक सदस्य नही रहता है। क्योंकि कुछ साल पहले नीलम आंटी का लड़का करन की मृत्यु हो गयी थी उसके बाद इनके पति का भी देहान्त हो गया। मुझे नीलम आंटी अपना परिवार का सदस्य ही मानती है। मै नीलम आंटी के घर का जरुरत के हिसाब से छोटा मोटा सारा काम करता हू। मुझे नीलम आंटी अपनी सारी बात बताती रहती है। कुछ समय से नीलम आंटी बैक किराये को लेकर काफी परेशान थी। नीलम आंटी ने बताया कि जब तक मेरे पति जिन्दा थे तब तक ही बैक द्वारा समय से किराया दिया जाता था। मेरे पति का वर्ष 2020 में देहान्त हो गया था तब से बैक मैनेजर ने मुझे किराया तक नही दिया है। वर्तमान बैंक मैनेजर विवेक यादव को मैं कई बार मकान के कागजात तक दे चुकी है व्यक्तिगत निवेदन भी किया कि कम से कम बैक मुझे किराया दे लेकिन बैंक मैनेजर मेरी नही सुन रहा है। यह भी जानकारी में आया है कि बैंक मैनेजर विवेक यादव बैंक को कही और शिष्ट करने हेतु प्रयासरत है। यदि विवेक ने ऐसा किया तो मेरा तो बहुत नुकसान हो जायेगा। विवेक का तो कुछ करना ही पड़ेगा। इस पर मैने भी सहमति जताई फिर नीलम आंटी ने यह भी बताया कि मेरे पास मेरे बेटे करन का रखा हुआ बिना लाईसेंस का पिस्टल है जिसके राउण्ड भी रखे है। मुझे दिया और बोला कि तुम इसे ले जाकर बैंक मैनेजर पर फायर कर देना ताकि कोई नया बैंक मैनेजर आये तो वो हमारा काम तो कर देगा। इस बैंक मैनेजर के होते हुये मेरा कोई काम नही होगा । दिनांक 10.05.22 को मैने आंटी से पिस्टल ली जिसमें कुल 04 राउण्ड थे और इस काम के लिये मैने अपने दोस्त गुरपाल उर्फ रिंकू को तैयार किया फिर मै और रिकू मोटर साईकिल से बरहैनी चौराहे से कुछ आगे सड़क के किनारे खड़े होकर बैंक मैनेजर के आने का इंतजार करने लगे। तभी शाम को जब मेरी नीलम आंटी से बात हुयी तो आंटी ने बताया कि बैक मैनेजर अपनी गाड़ी से बैक से निकल रहा है। फिर हमने बैक मैनेजर की गाड़ी का पीछा किया और नमूना से कुछ आगे पुलिया के पास मैने पिस्टल से बैक मैनेजर की गाड़ी पर पीछे से 02 राउण्ड फायर कर दिया था फिर हम दोनो वापस नमूना की ओर वापस मुड़े और नमूना से पहाड़पुर की ओर दीपू के घर पर चले गये थे। चुकि गिरफतारशुदा अभि०गणो ने घटना कारित करना स्वीकार किया गया है। इस पर दोनों को दिनांक 19.06.22 की देर रात्री में गिरफतार किया गया। अभि० दीपू से घटना में प्रयुक्त पिस्टल नाजायज मय जिन्दा 02 राउण्ड कारतूस बरामद हुये इस पर चरणजीतउर्फ दीपू के विरुद्व 299 / 22 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट पंजीकृत किया गया है। घटना में श्रीमती नीलम पत्नी स्व० लाजकुमार नि० बरहैनी की भी स्पष्ट संलिप्तता पाये जाने पर नीलम उक्त को भी आज दिनांक 20.06.22 की प्रातः बरहैनी स्थित मस्कन से गिरफतार किया गया है।

गिरफतार अभियुक्तगण -
1- चरणजीत उर्फ दीपू पुत्र बलविन्दर नि० पहाड़पुर बरहैनी उम्र 35 वर्ष। 
2- रिकू उर्फ गुरपाल नि० तरसेम नि० यादव होटल के पीछे बाजपुर उ0सि0नगर । उम्र 30 वर्ष ।
3- श्रीमति नीलम आनंद पत्नी लाजकुमार नि० बरहैनी बाजपुर उ० सि०नगर। उम्र 60 वर्ष।

बरामदा माल
1- 01 अदद पिस्टल मय 02 अदद जिन्दा राउण्ड ।
2- 01 अदद मो0सा0 लीवो यू0के0 18 एम-2785

*मीडिया सेल उधमसिंहनगर पुलिस*

1213

LEAVE A COMMENT

Comment