Place ad here
कारगिल युद्ध के शहीदो की स्मृति मे 23वीं कारगिल दिवस पुलिस लाइन स्थित षहीद स्मारक स्थल मे श्रद्धापूर्वक मनाया गया

कारगिल युद्ध के शहीदो की स्मृति मे 23वीं कारगिल दिवस पुलिस लाइन स्थित षहीद स्मारक स्थल मे श्रद्धापूर्वक मनाया गया .

रूद्रपुर 26 जुलाई,2022- सन् 1999 मे हुए कारगिल युद्ध के शहीदो की स्मृति मे 23वीं कारगिल दिवस को जनपद भर मे शौर्य दिवस के रूप मे पुलिस लाइन स्थित षहीद स्मारक स्थल मे श्रद्धापूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी युगल किशोर पंत, क्षेत्रीय विधायक शिव अरोरा, ब्लाॅक प्रमुख ममता जलहौत्रा, मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, अपर जिलाधिकारी जय भारत सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक मनोज कत्याल, अभय कुमार उपजिलाधिकारी प्रत्युष सिंह, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कै0 रंजीत सेठ, पुलिस विभाग एवं विभिन्न विभागो के अधिकारियो, जनप्रतिनिधियो व भूतपूर्व सैनिको द्वारा कारगिल युद्ध मे शहीद हुए जनपद के हवलदार पदम राम व राइफलमैन अमित नेगी के चित्रो पर पुष्पचक्र अर्पित किये।
        इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कारगिल दिवस के शहीदो को कोटि-कोटि नमन करते हुए कहा कि सैनिक कठिन  व विषम भौगोलिक परिस्थितयो मे भी सीमाओं पर देश की रक्षा कर रहे है, हम उनके परिजनो को सम्मान दे साथ ही सैनिको का कोई भी कार्य हो उसे प्राथमिकता से पूर्ण करना चाहिये। जिन वीर सैनिको ने देश की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्यौछावर किये है, उन्हे याद करने के साथ उनकी कुर्बानी को भी याद रखना चाहिये। उन्होने कहा वीर शहीदो के परिवारो के प्रति हमारा जो दायित्व बनता है, उसे हमे पूरा करना चाहिये ताकि वे अपने को गौरवान्वित महसूस करें यही उन वीर सपूतो को जिन्होने देश की रक्षा के लिये अपने प्राणों की आहूती दी उनको सच्ची श्रद्धांजली होगी।
       क्षेत्रीय विधायक शिव अरोरा ने कहा कि आज कारगिल दिवस शौर्य दिवस के रूप में मनाते है यह देश के सैनिकों के शौर्य का प्रतीक है। उन्होने बताया कि पड़ौसी मुल्क द्वारा हमारे देश पर धोके से आक्रमण किया। उन्होने कहा कि भौगोलिक व मौसम की विशम परिस्थितियों में देश के सैनिको का शौर्य, साहस और संघर्ष की क्षमता के आधार पर देश विजयी हुआ। उन्होने कहा कि यह भारत के इतिहास की बहुत बड़ी विजय है, आज हम सब के लिए गर्व का दिन है। आज पूरा देश अपने 527 शहीद सैनिको की शहादत पर गर्व कर रहा है और जो सैनिक आज सीमाओं पर हमारी सुरक्षा कर रहे है, हमारी स्वतन्त्रता को निरन्तर अक्षुण बनाये हुए है उनके प्रति आज का दिन समर्पण का दिन है। उन्होने कारगिल विजय दिवस की शुभकामनाऐं दी।
      जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कै0 रंजीत सेठ ने बताया कि सन् 1999 मे हुए कारगिल युद्ध के कारणो एवं कारगिल मिशन पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होने कहा कारगिल युद्ध मे भारतीय सेना ने अपने अदम्य साहस का प्रदर्शन करते हुए कारगिल युद्ध को जीता। उन्होने बताया इस युद्ध मे देश के 527 जवान शहीद हुए जिसमे प्रदेश के 75 व जनपद के 02 जवान शामिल है। इस युद्ध मे देश के 1300 जवान घायल हुए। उन्होने बताया कि इस युद्ध मे शहीद हुए जवानो की स्मृति मे प्रत्येक वर्श 26 जुलाई को कारगिल दिवस शौर्य दिवस के रूप मे मनाया जाता है।
      शौर्य दिवस के अवसर पर जनपद में शिक्षण संस्थाओं द्वारा कारगिल युद्ध/देश भक्ति से सम्बन्धित चित्रकला, निबन्ध एवं कविता पाठ एवं खेल विभाग द्वारा क्रास कन्ट्री प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। चित्रकला प्रतियोगिता में राजकीय पू0 मा0 विद्यालय खमरिया के कृष्णा व हेमन्त कुमार, निबन्ध प्रतियोगिता में रा0क0इ0का0 फाजलपुर महरौला की पूजा व दीक्षा झा एवं कविता पाठ प्रतियोगिता में रा0 प्रा0 विद्यालय शिवनगर की सिमरन एवं कृष्णा को सम्मानित किया गया। इस दौरान खेल विभाग द्वारा मनोज सरकार, स्पोर्ट्स स्टेडियम रूद्रपुर में ओपन आयु वर्ग बालक एवं बालिकाओ की क्रास कन्ट्री प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। क्रास कन्ट्री प्रतियोगिता के अन्तर्गत बालक वर्ग में विमल उपाध्याय प्रथम, सौरभ रावत द्वितीय, नीरज नेगी तृतीय, सोलित कुमार चतुर्थ, दीपांकर पंचम एवं मनदीप कुमार ने षष्टम स्थान तथा बालिका वर्ग में मीना कोरंगा प्रथम, संजना पाल द्वितीय, जसकिरन कौर तृतीय, सबा अंजुम चतुर्थ, निषा पंचम एवं अजरा बी ने षष्टम स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिताओं में प्रतिभागियों को जिलाधिकारी एवं मा0 विधायक जी के द्वारा पुरस्कृत किया गया।
      कार्यक्रम में सैनिक कारगिल परिशद के अध्यक्ष सूबेदार हरक सिंह कार्की, सहायक सैनिक कल्याण अधिकारी भगवत सिंह सहित पुलिस विभाग के अधिकारी व अन्य लोग उपस्थित थे।

1213

LEAVE A COMMENT

Comment